महा विष्णु पूजन

महा विष्णु पूजन
$ 169.3 / ₹ 11005
  • महा विष्णु पूजन
    महा विष्णु पूजन के माध्यम से पाएं भगवान विष्णु की कृपा और उनसे दीर्घायु का आशीर्वाद।
  • महा विष्णु पूजन के लाभ
    महा विष्णु पूजन से होती है समस्त विपरीत घटनाओं से रक्षा और मिलता है व्यक्ति को अपने सभी दुखों से छुटकारा।
  • सबसे सटीक उपाय
    घर-परिवार में आर्थिक समृद्धि, संतान प्राप्ति, सुख, वैभव, धन और यश की कामना हेतु, महा विष्णु पूजन है सबसे सटीक उपाय।
  • अभी करवाएं ऑनलाइन पूजा व अनुष्ठान
    अब घर बैठकर करवाएं महा विष्णु पूजन और इस आसान, सस्ती और सुलभ सेवा का उठाएं लाभ!

महा विष्णु पूजन

सनातन धर्म में तीनों देवों में से, भगवान विष्णु को जगत के पालनहार की उपाधि प्राप्त हैं। जिस प्रकार त्रिदेवों में से ब्रह्मा जी को सृष्टि का रचयिता और भगवान शंकर को संहारक बताया गया है, ठीक उसी प्रकार भगवान विष्णु पर जीव के पालन की जिम्मेदारी होती है। धरती लोक से स्वर्ग लोक तक हमेशा, भगवान विष्णु के विभिन्न अवतारों का धार्मिक उल्लेख होता रहा है। यही कारण है कि क्षीर सागर में मां लक्ष्मी के साथ विराजमान रहने वाले भगवान विष्णु का जो भी व्यक्ति उचित विधि-विधान अनुसार पूजन करता हैं तो, उसे निश्चित रूप से अक्षय फल की प्राप्ति होती है। कई पुराणों के अनुसार माना गया है कि भगवान विष्णु की पूजा करने से धन की देवी मां लक्ष्मी भी प्रसन्न होती हैं और व्यक्ति को अपार धन का आशीर्वाद देती हैं। जिससे उस भक्त के घर-परिवार में कभी धन की कमी नहीं होती है, साथ ही वो भक्त अपने जीवन में अपार धन, यश, सम्मान और वैभव की प्राप्ति करने में भी सफल रहता है। शास्त्रों अनुसार भगवान विष्णु को पीला और लाल रंग बेहद प्रिय बताया गया है, इसलिए महा विष्णु पूजन के दौरान व्यक्ति को पीले वस्त्र धारण करने चाहिए और हल्दी का टीका लगाना चाहिए। क्योंकि ऐसा करने से भगवान विष्णु जल्द ही प्रसन्न होते हैं और व्यक्ति पर अपना आशीर्वाद बरसाते हैं। ये पूजन-अनुष्ठान आमतौर पर व्यक्ति के जन्मदिन के अवसर पर सुबह किसी विद्वान या योग्य पंडित द्वारा 5 या 6 घंटों में संपन्न किया जाता है।

पूजा की संपूर्ण जानकारी और विधि

योग्य व कर्मकांडी ब्राह्मण करते हैं मार्गदर्शन

एस्ट्रोसेज के वरिष्ठ पुरोहित, आचार्य सुनील बरमोला के नेतृत्व में सभी पूजा-अनुष्ठान संपन्न किए जाते हैं। हमारे प्रतिष्ठित ज्योतिषी आचार्य सुनील बरमोला, अपनी विद्या की मदद से जन कल्याण का कार्य करते हुए जातकों के दुखों, कष्टों और समस्याओं का निवारण करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। देव नगरी उत्तराखंड के ऋषिकेश में पले-बढ़े और गुरुकुल के कठिन नियम-कानूनों का पालन करते हुए, उन्होंने अपनी 5वीं से 12वीं कक्षा तक की पढ़ाई पूरे 'वेदांग' का अध्ययन करते हुए की है और फिर अंततः उन्होंने वैदिक ज्योतिष में अपना योगदान देते हुए सामाजिक कार्यों के लिए ज्योतिष का विकल्प चुना। इस कर्म में उन्होंने सबसे प्रतिष्ठित श्री लाल बहादुर शास्त्री संस्कृत विद्यापीठ से आचार्य की डिग्री प्राप्त की।

पूजन के लाभ

  • वैदिक ज्योतिष अनुसार पूजन करने से जीवन में समृद्धि आती हैं।
  • पूजन कराने से जातक को मनोवांछित फल प्राप्त होते हैं।
  • जातक के व्यवहार में सकारात्मकता आती है।
  • जीवन में प्रसिद्ध , मान्यता और मान-सम्मान प्राप्त होता है।
  • घर के सदस्यों का स्वास्थ्य बेहतर होता है।
  • यह पूजा अथवा अनुष्ठान कराने से आपके महत्वपूर्ण कार्य संपन्न होते हैं।
  • इस पूजा के प्रभाव से आपके वो सभी कार्य जो रुके हुए थे, वो पूरे हो जाते हैं।
  • शारीरिक और मानसिक चिंताएं दूर होती हैं।
  • नौकरी, करियर और जीवन में आ रही सभी प्रकार की बाधाएं दूर होती है।

पूजन-अनुष्ठान में होता है चमत्कारी वैदिक मंत्रों का उच्चारण

पूजन-अनुष्ठानों के दौरान पारंपरिक वैदिक मंत्रों का जप, जातकों के लिए बहुत महत्व रखता है। इस जप से ही मन, आत्मा और ऊर्जा को शुद्ध करने में मदद मिलती है, जिससे जातक मानसिक शक्ति और कौशल को पुनः प्राप्त करने में सक्षम होता है। इन वैदिक मंत्रों के जप से मिलने वाली सकारात्मक ऊर्जा से वातावरण में शांति और समृद्धि आती है, जिससे सकारात्मक दृष्टिकोण विकसित करने में मदद मिलती हैं। पूजा-पाठ के दौरान उससे संबंधित मंत्रों का जाप ही जातक को आध्यात्मिक जागृति की ओर ले जाता है और उसे देवी-देवताओं का आशीर्वाद मिलना सुनिश्चित होता है। साथ ही मंत्रों की मदद से ही जातक को पूजा से शुभाशुभ परिणाम और आशीर्वाद के लिए देवी-देवताओं को प्रसन्न करने में भी मदद मिलती है।

विस्तृत पूजन विधि

किसी भी पूजन की शुरुआत वैदिक मंत्रों के उच्चारण व जप के साथ होती है। पूजा में "होमा" (हवन) अनुष्ठान भी शामिल है जिसमें घी, तिल, जौ और अन्य पवित्र सामग्री व मंत्र का पाठ करते हुए, अग्नि को अर्पित की जाती है। जातक को इस पूजा से सर्वश्रेष्ठ लाभ देते हुए, उसकी समस्या को दूर करने के लिए यज्ञ एक महत्वपूर्ण उपाय होता है। अधिकतम सकारात्मक परिणाम प्राप्त करने के लिए, वैदिक पूजा सबसे अच्छे मुहूर्त, नक्षत्र के दिन करनी चाहिए। शुभ मुहूर्त के दौरान पूजा को पूरा करने के लिए, एक पुजारी यानी एक पंडित जी को नियुक्त किया जाता है, जो समय अनुसार पूजा को संपन्न करते हैं ।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

Q1. क्या इस पूजन में मेरी शारीरिक उपस्थिति की आवश्यकता होगी ?

नहीं, इस अनुष्ठान के दौरान आप शारीरिक रूप से अनुपस्थित होते हुए भी, इस पूजन का लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

Q2. इस पूजन का मुहूर्त कैसे निर्धारित किया जाएगा?

पूजन का समय शुभ मुहूर्त देखकर तय किया जाएगा।

Q3. क्या हर व्यक्ति ये पूजन कर सकता है?

ये पूजन आप कर सकते हैं या नहीं? इस सवाल का उत्तर आपको हमारे विद्वान पुरोहित आपसे बात करने के बाद ही बता पाएंगे। हमारे विद्वान ज्योतिषियों से अभी लाइव बात करें।

Q4. इस पूजन के लिए किस सामग्री का उपयोग होता है?

इस पूजन में श्रीफल, धूप, फूल पान के पत्ते, सुपारी, हवन सामग्री, देसी घी, मिष्ठान, गंगाजल, कलावा, हवन के लिए लकड़ी (आम की लकड़ी), आम के पत्ते, अक्षत, रोली, जनेऊ, कपूर, शहद, चीनी, हल्दी, आदि विशेषरूप से उपयोग किया जाता है।

Q5. पूजन सामग्री की व्यवस्था कौन करेगा?

पूजन सामग्री का पूर्ण जिम्मा एस्ट्रोसेज द्वारा किया जाएगा, जिसमें पंडित जी आवश्यकता के अनुसार पूजा से पूर्व समस्त सामग्री की व्यवस्था स्वयं करते हैं।

Q6. इस पूजन को कराने लिए क्या-क्या जानकारी होना अनिवार्य होता है ?

इस पूजन को कराने के लिए, पुरोहित जी यजमान से पूजा से पहले से कुछ जानकारी लेते हैं। जो इस प्रकार है:-

  • आपका और आपके परिवार के सदस्यों का पूरा नाम
  • गोत्र
  • वर्तमान शहर सहित राज्य, देश, आदि।
  • पूजा करने का उद्देश्य - आप पूजा क्यों कर रहे हैं?

Q7. इस ऑनलाइन पूजन से अधिकतम लाभ प्राप्त करने के लिए क्या करना चाहिए ?

इच्छानुसार आप पूजा की शुरुआत में ही पंडित जी से पूजन-संबंधित मंत्र ले सकते हैं। जिसके बाद जब पंडित जी पूजन अनुष्ठान कर रहे हो तो, आप अपने समय अनुसार अपने घर में उस मंत्र का निरंतर जाप कर, इस पूजन से उत्तम फल प्राप्त कर सकते हैं।

Q8. पूजन को संपन्न करने में कितने दिन का समय लगता है?

पूजन-अनुष्ठान को पूरा करना उस पूजा और उसमें शामिल अनुष्ठान पर निर्भर करता है, जिसे हम संपन्न कर रहे हैं। आमतौर पर शुभ दिन व मुहूर्त की उपलब्धता के आधार पर, पूजा करने में लगभग 5 से 10 दिन का समय लगता है। हालांकि जैसे ही आप अपनी आवश्यकता अनुसार कोई ऑनलाइन पूजा बुक करते हैं तो, हमारे द्वारा आपसे संपर्क किया जाता है, जिसमें हमारे विशेषज्ञ आपको पूजा का सम्पूर्ण विवरण देते हुए, आपके द्वारा पूजा समायोजित करने का प्रयास करते हैं।

$ 169.3 / ₹ 11005
सर्व-समावेशी
(0 घंटे में ईमेल द्वारा प्राप्त करें )

प्रशंसापत्र

ग्राहक सेवा


+91 9560670006
(9AM to 6PM IST)
customercare@astrosage.com

हमारा विशेष धार्मिक सामग्री स्टोर

एस्ट्रोसेज पर आपका स्वागत है!

पेश है एस्ट्रोसेज एस्ट्रोलॉजी स्टोर, जहाँ आप ऑनलाइन आध्यात्म एवं ज्योतिष से जुड़े सर्वश्रेष्ठ क्वालिटी के सभी उत्पाद (यंत्र, माला, रुद्राक्ष, नवग्रह यंत्र आदि) आसानी से ख़रीद सकते हैं। इसके साथ ही इसकी किफायती ज्योतिषीय सेवाओं के माध्यम से आप अपनी समस्त समस्याओं और जिज्ञासाओं का समाधान प्राप्त करेंगे।

हम आपकी ज्योतिष से जुड़ी सभी ज़रुरतों को पूरा करेंगे। यहाँ आपको लैब द्वारा प्रमाणित, वास्तविक और पूर्ण रूप से सक्रिय प्रोडक्ट्स मिलेंगे। ख़ास बात है कि ये उत्पाद आपकी बजट के दायरे में भी होंगे।

सर्विस

त्वरित रिपोर्ट्स
अधिक जानें
प्रश्न पूछें
अधिक जानें
विस्तृत रिपोर्ट
अधिक जानें
एस्ट्रोसेज क्लाउड
अधिक जानें
कोग्निएस्ट्रो
अधिक जानें

भुगतान विधि

हम क्रेडिट और डेबिट कार्ड समेत भुगतान के अन्य सभी विकल्पों को स्वीकार करते हैं।

& और.....

0 घंटे में डिलीवरी

हमारा प्रयास रहता है कि हमारी सभी सेवाएँ, उत्पाद और ज्योतिषीय परामर्श आपको 0 घंटे के अंदर आपको प्राप्त हो जाये।

100% संतुष्टि की गारंटी

हमारे साथ जुड़ने पर आप हमारी उत्कृष्ट सेवाएँ, उत्पादों और समय पर उनके वितरण के प्रति आशान्वित रहेंगे। आपकी संतुष्टि ही हमारी पहली प्राथमिकता है।

दुनिया की सबसे बड़ी ज्योतिषीय वेबसाइट और ऐप